लक्षद्वीप आप दो तरीके से पहुंच सकते हैं पहला फ्लाइट दूसरा पानी का जहाज द्वारा। इन दोनों तरीकों को आजमाने के लिए आपको केरल के कोच्चि आना अनिवार्य है। 

चाहे आप एरोप्लेन से लक्षद्वीप जाना चाह रहे हो या पानी के जहाज से आपको लक्षद्वीप पहुंचने के लिए कोच्चि आना ही होगा। कोच्चि भारत के केरल राज्य में स्थित है और केरल दक्षिण भारत में है। 

समस्या यह है कि लक्षद्वीप जाने के लिए पूरे भारत में कोच्चि के अलावा कोई सीधी फ्लाइट किसी और स्थान से नहीं है। हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री मोदी की फोटोस तथा वीडियो लक्षद्वीप में वायरल हो गई थी।

लक्षद्वीप कैसे जाएं फ्लाइट से तथा पानी के जहाज से 

फ्लाइट से लक्षद्वीप कैसे जाएं  

लक्षद्वीप जाने की फ्लाइट आपको केरल के कोच्चि से मिलेगी। यह फ्लाइट कोच्चि से अगाट्टी जाती है। अगाट्टी एक टापू है। यह टापू यूनियन टेरिटरी लक्षद्वीप में स्थित है, इसके अलावा बंगाराम टापू भी यहां स्थित है। अगाट्टी आयलैंड अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। कोच्चि से अगाट्टी फ्लाइट से जाने पर डेढ़ घंटे का समय लगता है।

जनवरी 2024 में लक्षद्वीप जाने की फ्लाइट्स की संख्या कम ही है इसलिए बुकिंग पहले से करें। 

लक्षद्वीप प्रशासन की वेबसाइट के अनुसार अगाट्टी और बंगाराम आईलैंड के लिए कोच्चि से फ्लाइट उपलब्ध है। भारत से लक्षद्वीप जाने की फ्लाइट काफी कम है क्योंकि ताजा समय में अगाट्टी में सिर्फ एक हवाई पट्टी है। 

ऑनलाइन सर्च करने पर आपको सिर्फ कोच्चि से अगाट्टी की फ्लाइट्स मिलेगी बंगाराम के बारे में शायद जानकारी ना मिले। 

यह पढ़ेंदिल्ली से लक्षद्वीप कैसे जाएं बाय ट्रेन

पानी के जहाज से लक्षद्वीप कैसे जाएं 

फ्लाइट के अलावा आप पानी के जहाज से भी कोच्चि से लक्षद्वीप पहुंच सकते हैं। लक्षद्वीप प्रशासन अनुसार अगाट्टी से कवाराट्टी तथा कदमत के लिए अक्टूबर से में तक बोट्स  की सुविधा उपलब्ध है, पर उनकी संख्या भी कुछ कम ही है। मानसून के दौरान अगाट्टी से कवाराट्टी तक हेलीकॉप्टर की सुविधा भी उपलब्ध है। 

यह भी पढ़ेंदिल्ली देहरादून एक्सप्रेसवे रोड मैप ढाई घंटे

लक्षद्वीप क्यों है सुर्खियों में 

पूरे भारत में अचानक से लक्ष्यद्वीप की बात की जाने लगी है जबकि यह काफी पहले से मौजूद था। यह यूनियन टेरिटरी लक्षद्वीप में एक टापू है जो पहले भी उतना ही खूबसूरत था जितना कि अब है। मालदीव्स देश के कुछ मंत्रियों ने भारत के प्रधानमंत्री मोदी के लक्ष्यद्वीप की तस्वीरें तथा वीडियो पर चिढ़ाते हुए टिप्पणियां की। मालदीव्य ऐसा देश है जो पूरी तरह से आर्थिक तथा राजनीतिक दृष्टिकोण से भारत पर निर्भर था।

मालदीव देश की अर्थव्यवस्था भारत के टूरिज्म से चलती थी क्योंकि वहां अधिकतर भारतीय घूमने जाया करते थे और अधिकतर भारतीय वहां जॉब करते रहे हैं। पर अब ऐसा नहीं है प्रधानमंत्री पर खराब टिप्पणियों के बाद भारत सरकार ने अपने हाथ खींच लिए हैं और अब भारत सरकार का इरादा लक्षद्वीप को मालदीप जैसा टूरिज्म देने का है। अच्छी बात यह है कि लक्ष्यदीप भारत का हिस्सा है वह 8 यूनियन टेरिटरीज में से एक है। 

भारत सरकार ने बिना समय गवाए लक्षद्वीप को टूरिस्ट प्लेस बनाने के लिए उसमें निवेश कर दिया है और नए प्रोजेक्ट्स बना लिए हैं। हालांकि इस समय लक्षद्वीप पहुंचने के लिए एकमात्र विकल्प केरल का कोच्चि है क्योंकि वही से पानी के जहाज का रास्ता तथा एरोप्लेन की व्यवस्था है। 

यह पढ़ेंउत्तरकाशी सिल्कयारा टनल ऑल वेदर रोड उत्तराखंड 

लिस्ट ऑफ़ यूनियन टेरिटरीज ऑफ़ इंडिया 

इस वक्त भारत में 8 यूनियन टेरिटरीज तथा 29 राज्य है। 8 यूनियन टेरिटरीज के नाम नीचे दिए गए हैं:

  1. लद्दाख।
  2. जम्मू एंड कश्मीर।
  3. पुडुचेरी।
  4. लक्षद्वीप।
  5. दिल्ली।
  6. चंडीगढ़।
  7. दादर एंड नगर हवेली एंड  दमन एंड दिउ। 
  8. अंडमान तथा निकोबार आईलैंड्स। 

प्रश्न उत्तर

लक्षद्वीप जाने के लिए फ्लाइट कहां से मिलेगी?

फ्लाइट से लक्षद्वीप जाने के लिए केरल के कोच्चि क्षेत्र में जाना होगा वहीं से फ्लाइट मिलेगी।

लक्षद्वीप में कौन से आइलैंड है?

लक्षद्वीप में घूमने लायक दो खूबसूरत आइलैंड है जिनके नाम है बंगाराम तथा अगाट्टी।

कोच्चि से लक्षद्वीप पहुंचने में कितना समय लगेगा एरोप्लेन द्वारा?

केरल के कोच्चि से लक्षद्वीप फ्लाइट द्वारा पहुंचने में डेढ़ घंटे का समय लगेगा।

और भी पढ़ें
कटरा से गुलमर्ग की दूरी बस ट्रेन एरोप्लेन द्वाराऔली फ्रॉम दिल्ली बाय बस कैसे जाएं

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *