दिल्ली से लक्षद्वीप जाने के लिए ना तो कोई डायरेक्ट फ्लाइट है ना पानी का जहाज और ना ही ट्रेन। भारत से लक्षद्वीप जाने के लिए आपको सबसे पहले केरल के कोच्चि क्षेत्र में आना होगा। इस लेख के द्वारा आप जानेंगे कि दिल्ली से लक्षद्वीप कैसे जाएं, कौन से रास्ते से जाएं तथा लक्षद्वीप जाने का खर्चा कितना आएगा।

दिल्ली, भारत से लक्षद्वीप जाने के दो तरीके हैं पहला फ्लाइट और दूसरा पानी का जहाज। इन दोनों तरीकों को इस्तेमाल करने के लिए आपको केरल के एक कोच्चि क्षेत्र में जाना होगा क्योंकि ना तो दिल्ली से लक्षद्वीप के लिए डायरेक्ट फ्लाइट है ना मुंबई से और ना ही किसी और शहर से। 

दिल्ली से लक्षद्वीप कैसे जाएं

दिल्ली से लक्षद्वीप जाने के लिए पहले आपको दिल्ली से कोच्चि जाना होगा। कोच्चि भारत के दक्षिण क्षेत्र में पड़ता है यह केरल राज्य में स्थित एक खूबसूरत शहर है। कोच्चि की स्थापना 1 अप्रैल 1958 को हुई थी, पानी से घिरा यह शहर “क्वीन आफ अरेबियन सी” के नाम से प्रसिद्ध है। 

यह एक बंदरगाह शहर है जो केरल के कमर्शियल, इंडस्ट्रियल तथा फाइनेंशियल जरूरत को पूरा करता है। अपनी खूबसूरती की वजह से यह शहर केरल राज्य के पर्यटन को बढ़ावा देता है। कोच्चि एक तटीय शहर है यहां नारियल के भरपूर पेड़ हैं जो इस शहर की शोभा बढ़ाते हैं। 

दिल्ली से केरल की डायरेक्ट फ्लाइट मिलती है, लक्षद्वीप जाने के लिए आपको पहले दिल्ली से कोच्चि की फ्लाइट बुक करनी होगी। उसके बाद कोच्चि से लक्षद्वीप की फ्लाइट बुक करनी होगी। दिल्ली से कोच्चि के लिए ट्रेन भी जाती है, आप दिल्ली से कोच्चि ट्रेन द्वारा जा सकते हैं। 

एक बार कोच्चि पहुंचने के बाद आपको कोच्चि से लक्षद्वीप की फ्लाइट बुक करनी होगी। ताजा समय में कोच्चि से लक्षद्वीप टिकट कीमत काफी ज्यादा है, कम फाइट्स का चलना इसकी मुख्य वजह है। आने वाले समय में लक्ष्यद्वीप की टिकट जरूर सस्ती होगी क्योंकि भारत सरकार का प्लान इसे एक पर्यटन स्थल के तौर पर प्रमोट करना है। 

एरोप्लेन के अलावा पानी के जहाज से भी आप कोच्चि से लक्षद्वीप जा सकते हैं। पानी का जहाज कोच्चि से अगाती तथा बंगाराम टापू जाता है। 

लक्षद्वीप में घूमने लायक जगह 

केरल राज्य के कोच्चि से लक्षद्वीप जाने के लिए आपको कोच्चि से अगाट्टी की फ्लाइट बुक करनी होगी या फिर कोच्चि से बंगाराम की फ्लाइट बुक करनी पड़ती है। भारत के यूनियन टेरिटरी लक्षद्वीप में 36 आइलैंड तथा 12 अटोल हैं जिनमें से दो के बारे में मैं आपको बता रहा हूं। 

अगाट्टी और बंगाराम लक्षद्वीप में घूमने लायक जगह है और अगाट्टी आयलैंड में एयरपोर्ट उपलब्ध है इसलिए किसी भी देश से एरोप्लेन की लैंडिंग मुख्यतः अगाट्टी क्षेत्र में होती है। बंगाराम की दूरी अगाती आईलैंड एयरपोर्ट से मात्र 13.9 किलोमीटर है। 

अगाट्टी द्वीप 

लक्षद्वीप अपने बीचों के लिए प्रसिद्ध है इन प्रसिद्ध बीचों में से एक बीच अगाट्टी है। लक्षद्वीप जिला में अगाट्टी एक खूबसूरत टापू है यह चारों ओर समुद्र से घिरा है। अगाट्टी टापू के चारों ओर है इस खूबसूरत टापू को देखने पर लगता है दूर तक नीले पानी की चादर बिछी हुई है। नीला पानी और रंग बिरंगी मछलियां अगाट्टी द्वीप की पहचान हैं। 3.226 km² क्षेत्रफल में पहले इस द्वीप की लंबाई 7.76 किलोमीटर है।

यह छोटा सा द्वीप अगाट्टी अरेबियन सी लोकेशन में पड़ता है जिसका पिन कोड 682553 है। साल 2014 की गणना के अनुसार अगाट्टी की जनसंख्या 7700 है। इस आईलैंड पर एयरपोर्ट बड़ी खूबसूरती से लैंडिंग को सहज करने के उद्देश्य से बनाया गया है।

बंगाराम 

भारत के यूनियन टेरिटरी लक्षद्वीप में पढ़ने वाला बंगाराम एक छोटा सा आंसू के आकार का टापू है। बंगाराम लक्षद्वीप समूह का एक अडल है, यह 123 हेक्टर में फैला हुआ है जिसकी लंबाई 1.22 किलोमीटर है। बंगाराम एटोल अरेबियन सी लोकेशन में पड़ता है यह अगाट्टी तथा कवाराति आयरलैंड के नजदीक पड़ता है।  

लक्षद्वीप में एयरपोर्ट 

लक्षद्वीप के अगाट्टी टापू पर एयरपोर्ट उपलब्ध है। यदि आपको लक्ष्यदीप से भारत आना हो तो अगाट्टी से कोच्चि या बंगाराम से की कोच्चि की फ्लाइट बुक करनी होगी। अगाट्टी तथा बंगाराम दर्शनीय स्थल हैं जो पानी से घिरे हुए हैं। अगाट्टी में छोटा सा रन वे है इसलिए छोटे एयरप्लेन की सर्विस इस्तेमाल की जाती है।

अनुमानित अगाट्टी लक्षद्वीप टिकट की कीमत रुपए 55000 से रुपए 10,000 तथा उसके ऊपर है। एयरपोर्ट के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप अगाट्टी एयरपोर्ट रिव्यूज पढ़ सकते हैं। 

यह भी पढ़ें

त्रियुगीनारायण मंदिर कहां है

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *