भारत सरकार की महत्वपूर्ण योजनाएं | Indian government schemes

प्रधानमंत्री जन धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैंडअप इंडिया योजना, प्रधानमंत्री वय वंद ना योजना

भारत सरकार ने अब तक काफी योजनाओं का शुभारंभ किया है किन्तु जानकारी ना होने के कारण काफी लोग उन योजनओं का लाभ लेने से वंचित रह गए हैं। आज हम आप से इन महत्वपूर्ण भारत सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी साझा करेंगे।

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PM Jandhan Scheme PMJDY)

पि एम् जनधन योजना लांच डेट – 15 अगस्त 2014 को भारत के स्वंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक मिशन के रूप में इस योजना की घोषणा की थी।

पी एम् जनधन योजना विशेषता – इस योजना के तहत कोई भी भारतीय व्यक्ति जीरो बैलेंस बैंक अकाउंट खोल सकता है। और यदि किसी व्यक्ति के पास कोई दस्तावेज़ ना हों तो भी वह एक छोटा खाता खोल सकता है। इस प्रकार से PMJDY ke द्वारा ऐसे लोगों को भी बैंक अकॉउंट खोलने की सुविधा मिलती है जो मिनिमम बैलेंस मेन्टेन नहीं कर पा रहे थे। इसके आलावा खाताधारक को रूपए डेबिट कार्ड प्राप्त होता है जिसमें 2 लाख रूपए का दुर्घटना बीमा भी कवर होता है।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना – इस योजना के अंतर्गत 18 से 50 वर्ष के वे सभी लोग आते हैं जिन्होंने ऑटो डेबिट के लिए सहमति दी हो। इस योजना के अंतर्गत 2 लाख रूपए का जीवन कवर मिलता है जो 1 जून से 31 मई तक है और नवीकरणीय है। इस योजना के अंतर्गत 2 लाख का जोखिम कवरेज है जो बीमाधारक की मृत्यु पर मिलता है। इस योजना में लाभार्थी को 330 रूपए प्रति वर्ष प्रीमियम के तौर पर भरने होते हैं यह राशि 31 मई या उससे पूर्व उनके खतों से ऑटो डेबिट के माद्यम से काट लिए जाते हैं।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY)

इस योजना के अंतर्गत दुर्घटना में मृत्यु या पूर्ण विकलांगता होने पर 2 लाख रूपए का जोखिम कवरेज है तथा दुर्घटना में अर्धविकलाँगता होने पर 1 लाख रूपए का जोखिम कवरेज है। यह योजना 18 से 70 वर्ष के उन लोगो के लिए है जो 1 जून से 31 मई की कवरेज अवधि के लिए योजना में शामिल होने के लिए 31 मई से पहले सहमति प्रदान करते हैं। यह योजना भी वार्षिक नवीनीकरण आधार पर उपलब्ध है इस योजना के लिए के वाई सी होनी अनिवार्य है। स्वितः आहरण सुविधा के ज़रिए खाताधारक के बैंक खाते से 12 रूपए की वार्षिक प्रीमियम कटौती होती है।

अटल पेंशन योजना (APY)

अटल पेंशन योजना लांच डेट – यह योजना पी एम् द्वारा 9 मई 2015 को लांच की गई थी। यह योजना 18 से 40 वर्ष के लोगों के लिए है। इस योजना के तहत अभिदाताओं को 60 वर्ष की आयु पर गारंटी मुश्त न्यूतम महीने की पेंशन मिलेगी जो 1000 रूपए मासिक पेंशन से लेकर 5000 रूपए मासिक पेंशन हो सकती है। यदि व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उनकी पत्नी या पति को यह पेंशन मिलेगी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना – यह योजना 8 अप्रैल 2015 को आरम्भ की गई थी। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत तीन महत्वपूर्ण उप योजनाएं आती हैं जिनके द्वारा व्यक्ति अलग अलग राशि का लोन प्राप्त कर सकता है।

उप योजना शिशु – 50,000 रूपए तक का ऋण, उप योजना किशोर – 50,000 रूपए से 5 लाख रूपए तक का ऋण और उप योजना तरुण – 5 लाख रूपए से 10 लाख रूपए का ऋण

इस योजना का लक्ष्य उन युवा कामगारों को आगे बढ़ाना है जो खुद का व्यवसाय शुरू करने का सामर्थ्य रखते हैं। यह योजना तमाम लघु व्यवसायों को भी आगे बढ़ने के लिए महत्वपूर्ण है।

स्टैंड अप इंडिया योजना

स्टैंड अप इंडिया योजना – इस योजना की शुरुआत 5 अप्रैल 2016 को हुई थी। यह योजना ग्रीनफील्ड उधोगों को स्थापित करने के लिए कारगर है तथा इस योजना के तहत अनुसूचित जाती/ अनुसूचित जनजाति उधारकर्ता, महिला उधारकर्ता को 10 लाख रूपए से 1 करोड़ के बैंक ऋण को सुकर बनती है। जो भी व्यक्ति इस योजना का लाभ लेना चाहता है उसे उद्यम विनिर्माण, सेवा या व्यापक छेत्र का चुनाव करना होगा। अनुसूचित वाणिज्य बैंको के द्वारा इस योजना के तहत पूरे देश में ऋण प्रदान किए जा रहे है।

स्टैंड अप योजना आवेदन – इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को अनुसूचित वाणिज्यिक बैंको से ऋण के लिए आवेदन करना होगा। वाणिज्यिक बैंको को कम से कम 2.5 लाख उधारकर्ताओं को लाभ पहुँचाना है। इस योजना के तहत आवेदन ऑनलाइन भी किए जा सकते हैं जिसे आप स्टैंड अप इंडिया पोर्टल, स्टैंड अप मित्र (Stand Up Mitra) के द्वारा आवेदन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री वय वंद ना योजना

प्रधानमंत्री वय वंद ना योजना – इस योजना को (LIC) भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से चलाया जा रहा है जो की 31 मार्च 2023 तक खुली रहेगी। यह योजना 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगो के लिए है, इस योजना को वृद्धों के ब्याज में भविष्य में होने वाली कमी के प्रति सुरक्षा हेतु शुरू किया गया था।

ये भी पढ़ें

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *