आज हम आपको बताएंगे पेपर प्लेट का बिजनेस कैसे शुरू किया जाता है और इसमें कौन-कौन सी कठिनाइयां आ सकती है।

दोस्तों पेपर प्लेट एक ऐसी वस्तु है जिसकी डिमांड मार्केट में शायद ही कभी खत्म हो उल्टा इसकी डिमांड दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है पेपर प्लेट को आसानी से कहीं भी ले जाया सकता सकता है क्योंकि यह बेहद ही हल्का और रखने में काफी आसान होता है।
यह आज भी कई पिकनिक स्पॉट्स पर फैमिली द्वारा इस्तेमाल किया जाता है 15 अगस्त, 26 जनुअरी में स्कूल में होने वाले कार्यक्रमों में बच्चों को पेपर प्लेट में समोसे या अन्य खाद्य सामग्री दी जाती है इसी तरह पेपर प्लेट हर दूसरे तीसरे फंक्शन में इस्तेमाल होता है चाहे किसी के घर में कीर्तन हो या दुकान से आपको कोई खाने का सामान खरीदना हो आपको पेपर प्लेट हर जगह नजर आएंगे भले आप दिल्ली या मुंबई जैसे मेट्रो सिटी में रहते हो पर जब आप मेट्रो स्टेशन में भी खाने के लिए कुछ खरीदते हैं तो आपको पेपर प्लेट में ही मिलता है भले ही वह पैटीज़ हो या मोमो, या कोई बर्गर हो।
पेपर प्लेट एक ऐसा व्यवसाय है जो काफी कम लागत में शुरू किया जा सकता है और इसका रिजल्ट भी आपको जल्दी ही देखने को मिल जाता है इसके लिए जगह भी कम ही इस्तेमाल होती है चलिए जानते हैं पेपर प्लेट का व्यवसाय कैसे शुरू किया जा सकता है।

पेपर प्लेट बनाने के लिए मशीनों की आवश्यकता

पेपर प्लेट बनाने के लिए स्वचालित ( आटोमेटिक ) एवं हस्त चालित मशीनें मिल जाती हैं स्वचालित मशीनें थोड़ी ज्यादा महंगी होती है अतः हस्त चालित मशीनों से आप शुरुआत कर सकते हैं हस्त चालित मशीनें आपको ₹9000 से लेकर ₹25000 के बीच मिल जाएंगी और एक बार व्यवसाय बढ़ जाने पर आप बाद में स्वचालित मशीनें ले सकते हैं। स्वचालित मशीन ऑटोमेटिक होती हैं और हस्तशिल्प मशीनों में आपको हाथ से ज्यादा काम करना होता है। सिंगल डाई स्वचालित मशीनों की कीमत ₹30000 से शुरू होती है और डबल डाई स्वचालित मशीनों की कीमत ₹55000 से शुरू होती है।

पेपर प्लेट बनाने के लिए व्यापार की कुल लागत

पेपर प्लेट व्यवसाय शुरू करने के लिए कुल लागत आपके द्वारा खरीदी गई मशीन पर निर्भर करती है और इसके अलावा दुकान पर भी निर्भर करती है।
पेपर प्लेट मशीन दो प्रकार की होती हैं स्वचालित मशीन है एवं हस्त चलित मशीन। यदि आप स्वचालित मशीन लेते हैं तो आप कुल 50 हज़ार से व्यवसाय की शुरुआत कर सकते हैं पर दुकान का खर्चा अलग है। आपको तकरीबन ₹20000 चाहिए होते हैं जिसमें आपके लिए एक छोटी हस्त चलित मशीन तथा पेपर प्लेट की कुछ सामग्री आ जाएगी लेकिन जब आप स्वचालित मशीन यानी ऑटोमेटिक मशीन से शुरुआत करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको थोड़ा निवेश बढ़ाना होगा और ₹50000 आपको मशीन एवं प्लेट सामग्री खरीदने के लिए इस्तेमाल करने होंगे स्वचालित मशीन की कीमत ₹30000 से शुरू होती है इस तरह से आप की कुल लागत 50000 के आसपास पहुंच जाएगी।

पेपर प्लेट बनाने की प्रक्रिया – Paper plate making process

 पेपर प्लेट बनाने की प्रक्रिया तीन चरणों से होकर गुजरती है वे तीनों चरण नीचे एक्सप्लेन किए गए हैं

 पहली प्रक्रिया सबसे पहले पेपर को आवश्यक आकार में काटें इसके बाद अपनी हास्य 40 मशीन का मोटर ऑन करें  यह एक बात ध्यान देने योग्य है कि कटे हुए गोल प्लेट का आकर मशीन की गाय पर निर्भर करता है कोशिश करें कि पेपर का कार टायर के आधार से ज्यादा बढ़ाना रखें इससे पेपर का नुकसान भी होता है और पेपर प्लेट की सुंदरता भी खराब होती है

पेपर प्लेट जीएसएम-  पेपर प्लेट की क्वालिटी इसके जीएसएम पर निर्भर करती है अधिक जीएसएम के लिए अधिक पैसा लगाना पड़ता है और क्वालिटी में बढ़ोतरी होती है। एक साधारण हस्तचलित मशीन की डाई में ज्यादा से ज्यादा 11 पेपर लगाए जा सकते हैं एक मशीन में कुल 2 डाई होती है इसलिए एक मशीन में एक साथ कुल 22 पेपर बनाए जा सकते हैं।
पेपर प्लेट तीसरा चरण –  इस चरण में पेपर प्लेट का आधार किनारा और डिजाइन तैयार होता है इस चरण में हैंड लीवर को नीचे गिराने पर  दोनों  डाई पेपर प्लेट के ऊपर गिर जाती है और प्लेट का एक खूबसूरत सा डिजाइन तैयार हो जाता है।

पेपर पेपर प्लेट बनाने के व्यापार के लिए लाइसेंस और पंजीकरण

paper plate

किसी भी ब्रांड का पंजीकरण कराने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि उन्हें लोन लेने में काफी आसानी होती है अतः पंजीकरण अवश्य कराएं ऐसे व्यवसाय जिसमें कुछ मैन्युफैक्चर होता है उन व्यवसाय को लाइसेंस और पंजीकरण के लिए अप्लाई जरूर करना चाहिए ताकि कुछ भी मैन्युफैक्चर करते वक्त किसी भी प्रकार की अड़चन ना आ सके और कोई सरकार की तरफ से रोक ना लग सके यदि आप छोटे स्तर से भी शुरू कर रहे हैं तो भी अपने शहर के लोकल अथॉरिटी से इसकी अनुमति जरूर लें।

पेपर प्लेट बनाने के व्यापार के लिए मार्केटिंग

किसी भी व्यवसाय में मार्केटिंग एक अहम स्थान रखता है और जब आप एक नए ब्रांड का अस्तित्व बनाने की कोशिश करें तो मार्केटिंग स्ट्रेटजी का बेहतरीन होना आवश्यक है। नए ब्रांड को मार्केट में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है उन्हें अक्सर अपने ब्रांड को बिल्ड करना होता है और प्राइस को भी काफी कम रखना होता है ताकि उन्हें मौका मिल सके कि वह रेस में खड़े हो पाए। इसके लिए आपको लगातार प्रोडक्शन करना भी जरूरी है और ज्यादा मात्रा में प्रोडक्शन करने से ही आप किसी चीज का रेट कम कर पाएंगे यदि आप यह एक फैमिली बिजनेस के तौर पर शुरू कर रहे हैं तो एक आदमी को केवल मार्केटिंग का काम संभालना चाहिए और उसे पूरे मार्केट में घूम घूम कर थोक विक्रेताओं से मिलना चाहिए मॉल्स में जाना चाहिए और इस प्रकार से अपने लिए प्लेटफॉर्म बनाना चाहिए।

पेपर प्लेट्स की पैकेजिंग

पेपर प्लेट्स की पैकेजिंग करते हुए खास ध्यान रखें और 100 पेपर प्लेट्स का एक पैकेट बना सकते हैं इससे आपको उसकी कीमत का अंदाजा लगेगा और उसका हिसाब रिकॉर्ड कर सकते हैं।

 पेपर प्लेट बनाने के बिजनेस में मुनाफा

यदि आप एक प्लेट की कीमत 85 पसे रखते हैं तो 100 पेपर प्लेट बेचने पर इसकी कीमत ₹85 हो जाएगी जितना ज्यादा पैकेट बेच पाएंगे उतना ज्यादा आप मुनाफा कमा पाएंगे यदि आप इसको खुल्ले में बेचते हैं यानी कि 100 पेपर प्लेट के सेट के बजाय सिंगल सिंगल पेपर प्लेट। हालांकि खुले मैं बेचना ज्यादा मुश्किल होता है पर मुनाफा भी ज्यादा होता है।

पेपर प्लेट बनाने के व्यापार में चुनौतियां

पेपर प्लेट बिजनेस में सबसे बड़ी चुनौती होती है पर्यावरण क्योंकि पेपर पेड़ से बनते हैं और पेड़ बचाओ की मुहिम काफी समय से चली आ रही है इसलिए बड़ी-बड़ी संस्थाएं अक्सर पेपर उद्योग का विरोध करती हैं। इसके अलावा इसमें कई तरह के केमिकल इस्तेमाल होते हैं जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है कुछ बड़े पेपर उद्योग भी अपने केमिकल युक्त पानी को नदियों में फेंक देते हैं जिससे नदियों को नुकसान पहुँचता है जब आप यह व्यवसाय शुरू करें तो इन बातों का ध्यान रखें और अपने पर्यावरण का ख्याल रखना हमारा कर्तव्य है वरना जल्दी ही बिग बैंग होगा।

ये भी पढ़ें

हार्डवेयर की दुकान कैसे खोलें

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *